झलकारी बाई जनमोत्स्व

लखनऊ। भारतीय कोरी समाज(भारत), के पदाधिकारियों व यूथ विंग के प्रान्तीय, मण्डल, जिलासंयोजक, सह संयोजकों के साथ म कोरी एन०एल०दास जी की अध्यक्षता में लखनऊ कार्यालय में 4 नवम्बर को कार्यालय में बैठक सम्पन्न हुई।
बैठक में गोण्डा, बलरामपुर, सुल्तानपुर, अमेठी, सहारनपुर, बाराबंकी, अम्बेडकर नगर, प्रतापगढ़, कानपुरनगर, व देहात, आदि जिलों से लोगों ने शिरकत किया।
बैठक में नकद सम्मानित
डॉ०ए०के०शाक्य.    रू० 10,000-00
ई०आर०के०सोनवानी रू० 5000-00
ई०एन०एल०दास।      रू० 2000-00
कोरी बी०डी०पुष्कर    रू० 2000-00
कोरी राज किशोर।      रू०1000-00
कोरी राजेंद्र कुमार।      रू०  200-00
कोरी संजय बुनकर     रू०  400-00
बैठक में 'कुल रूपये बीस हजार चार सौ मात्र सहयोग 25 नवम्बर 2018 वीरांगना झलकारी बाई जन्मोत्सव समारोह हेतु प्राप्त हुआ।।बहुत दानदाताओं को बहुत-बहुत धन्यवाद।
उपस्थित युवाओ ने संकल्प लिया कि 5000 से अधिक संख्या में लोगों को लाने का कार्य करेंगे। जिसमें 500 नवयुवक महिलाएं होगी।
बैठक मे सुल्तानपुर हजार, कानपुर मण्डल बीस हजार, सहारनपुर दस हजार, गोण्डा मण्डल से बीस हज़ार, लखनऊ मण्डल से पचास हजार और प्रत्येक जिलो 10-10 हजार की व्यवस्था कीम्मेवारी ली।
प्रचार सामग्री में हैण्डबिल, स्टीकर और पोस्टर वितरण हुआ। बैठक को डॉ एके शाक्या, इं०आर०के०सोनवानी, राम चन्द्र कमल, इं०आशुतोष अम्बेडकर, कोरी बाबादीन, कोरी रामफेर गौतम, संजय बुनकर, इं० अजबसिंह, कोरी  रामकुमार, कोरी  निशांत कंचन, कोरी रामसागर, कोरी बौद्धमती ममता कोरी अनुज कमल, साधूराम बौद्ध, आदि ने सम्बोधित करते हुए कार्यक्रम सफल बनाने के लिये पूरी ताकत के साथ लग जाय।
अन्त में सभाध्यक्ष दास साहब ने सभी को धन्यावाद देते हुए बताया कि कार्यालय व्यवस्था में संस्था द्वारा दिनांक 2 नवम्बर को नयी 18 कुर्सी खरीदी गई हैं, इसके लिए लहरी जी को धन्यवाद आप सभी हमेशा अपनी बात को बुलंदी से रखा करें जिसकी आवाज में दम होती है उसे सम्मान के साथ हक मिलता है।
मैट्रो स्टेशन का वीरांगना झलकारीबाई रखने केन्द्र और राज्य सरकार से मांग की गयी।
मा० गोपाल प्रसाद पान की पत्नी व रघुवीर प्रसाद के चचेरे भाई के निधन पर 2 मिनट मौन रखकर कामना की गई कि शोकाकुल परिवार को अपूरणीय छति को सहन करने की आत्म शक्ति मिले।
आपका
कोरी सुभाष चन्द्र लहरी
राष्ट्रीय कार्यकारिणी अध्यक्ष
भारतीय कोरी समाज  (भारत)।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *